No Image

महाजनपद

May 17, 2017 freecivilexam 0

महाजनपद प्राचीन भारत मे राज्य या प्रशासनिक इकाईयों को ‘महाजनपद’ कहते थे। उत्तर वैदिक काल में कुछ जनपदों का उल्लेख मिलता है। बौद्ध ग्रंथों में [..]

http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
No Image

समानता का अधिकार

May 17, 2017 freecivilexam 0

समानता का अधिकार:- भारत में नागरिकों के मौलिक अधिकारों की मांग ब्रिटिश काल में ही शुरू हो गया था. ब्रिटिश उपनिवेशवाद के समय शुरू हुए [..]

No Image

सविधान प्रश्न – उत्तर 8

May 17, 2017 freecivilexam 0

निम्न में से कौन राज्य सभा का अध्यक्ष होता है? राज्य सभा के सदस्यों में से एक उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति प्रधानमंत्री उत्तर :उपराष्ट्रपति 2. ‘भारत सरकार’ [..]

http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
No Image

इतिहास प्रश्न – उत्तर

May 17, 2017 freecivilexam 0

1. विलियम बैंटिक ने भारतीय समाज में कुछ सुधार कार्य किए उनमें से कौन सा कार्य उन्होंने नहीं किया? सती उन्मूलन नर-बलि उन्मूलन ठगी उन्मूलन [..]

No Image

भारत का नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक

May 16, 2017 freecivilexam 0

भारत का नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (श्री शशि कान्‍त शर्मा भारतीय प्रशासनिक सेवा (बिहार संवर्ग) के 1976 बैच से संबंधित हैं। उन्‍हें लोक प्रशासन, वित्‍तीय [..]

http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
No Image

प्रश्न – राजनीति

May 16, 2017 freecivilexam 0

1. किसी विधान मंडल के किसी सदस्य द्वारा प्रस्तुत प्रस्ताव को जनमहत्त्व का अविलम्ब मामला मानते हुए जो चर्चा की जाती है, उसे क्या कहते [..]

No Image

प्रश्न- इतिहास 24

May 16, 2017 freecivilexam 0

1. {व्यापारिक या वणिक समुदाय जैन धर्म की ओर सर्वाधिक आकर्षित हुआ क्योंकि- वे अपने आर्थिक गतिविधियों का निर्विघ्न रूप से अनुसरण करते हुए धर्म [..]

No Image

बिन्दुसार

May 16, 2017 freecivilexam 0

बिन्दुसार (राज 298-272 ईपू) मौर्य राजवंश के राजा थे जो चन्द्रगुप्त मौर्य के पुत्र थे। बिन्दुसार कोअमित्रघात, सिंहसेन्, मद्रसार तथा अजातशत्रु भी कहा गया है। [..]

No Image

अपवाह तन्त्र या प्रवाह प्रणाली (drainage system)

May 15, 2017 freecivilexam 0

किसी नदी तथा उसकी सहायक धाराओं द्वारा निर्मित जल प्रवाह की विशेष व्यवस्था है यह एक तरह का जालतन्त्र या नेटवर्क है जिसमें नदियाँ एक दूसरे से [..]

No Image

हुमायूँ

May 15, 2017 freecivilexam 0

हुमायूँ दुसरे मुग़ल शासक थे जिन्होंने उस समय आज के अफगानिस्तान, पकिस्तान और उत्तरी भारत के कुछ भागो पर 1531-1540 तक और फिर दोबारा 1555-1556 [..]