http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
No Image

हर्षवर्धन और वर्धन वंश- भाग -2

October 21, 2017 freecivilexam 0

पुलकेशिन द्वितीय से युद्ध हर्ष ने उत्तरी भारत के बहुत प्रदेशों पर विजय प्राप्त करने के पश्चात् दक्षिणी भारतवर्ष के प्रदेशों पर अधिकार करने का [..]

No Image

हर्षवर्धन और वर्धन वंश- भाग -1

October 21, 2017 freecivilexam 0

पुरातात्विक सामग्री हर्ष के समय में बंसखेरा ताम्रलेख एवं मुधुवन ताम्रपत्र में उसके वंश के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। सोनपत में एक तांबे [..]

http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
http://fkrt.it/Jnwh6TuuuN
No Image

अंतिम गुप्त शासक

October 9, 2017 freecivilexam 0

पुरूगुप्त (467-468 ईस्वी) स्कन्दगुप्त के कोई पुत्र नहीं था। अतः उसकी मृत्यु के बाद उसका सौतेला भाई पुरूगुप्त सिंहासन पर बैठा। पुरूगुप्त वृद्धावस्था में शासक [..]

No Image

कुमारगुप्त प्रथम (414 ई.-455 ई.)

October 9, 2017 freecivilexam 0

कुमारगुप्त प्रथम (414 ई.-455 ई.) चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य की मृत्यु के पश्चात उसका ज्येष्ठ पुत्र कुमारगुप्त महेन्द्रदित्य राजगद्दी पर बैठा।भितरी स्तम्भ लेख से मालूम होता है [..]

No Image

फाह्यान का भारत वर्णन

October 9, 2017 freecivilexam 0

फाह्यान का भारत वर्णन फाह्यान ने अपना सम्पूर्ण समय बौद्ध पुस्तकों के संकलन में बिताया, परन्तु फिर भी उसने चन्द्रगुप्त द्वितीय के काल की राजनीतिक, [..]

No Image

चन्द्रगुप्त द्वितीय अथवा विक्रमादित्य (375 ई.-414 ई़.)

October 8, 2017 freecivilexam 0

चन्द्रगुप्त द्वितीय अथवा विक्रमादित्य (375 ई.-414 ई़.) चन्द्रगुप्त समुद्रगुप्त का पुत्र एवं दत्तदेवी का प्रसिद्द पुत्र था इतिहासकारों के अनुसार यह विक्रमादित्य उज्जैन का प्रसिद्व [..]